बिग ब्रेकिंग - प्राथमिक शाला प्रधान पाठक के 22 हजार पद सहित कुल 46 हजार पदों पर होगी शिक्षकों की पदोन्नति

 cgreporter.com रायपुर - छत्तीसगढ़ कैबिनेट बैठक में शिक्षकों के लिए बड़ी सौगात लेके आयी है जिसमे शिक्षकों की पदोन्नति का रास्ता खुलता हुआ नजर आ रहा है सरकार द्वारा वन टाइम रेलेक्सेशन देते हुए शिक्षक पंचायत सवर्ग से सीधे शिक्षा विभाग में सविंलियन होने वाले शिक्षकों को राज्य सरकार के तरफ से पदोन्नति में वन टाइम रेलेक्सेशन देते हुए पांच वर्ष को कम कर 3 वर्ष कर दिया है। जिसमे सहायक शिक्षक की पदोन्नति शिक्षक एवं प्राथमिक  शाला प्रधानपाठक के रूप में होगा।वही शिक्षकों की पदोन्नति प्रधानपाठक पूर्व माध्यमिक शाला और व्याख्याता के पदों पर होगा।  रिक्त पदों की सूचि निचे देखें। 

संभागवार प्राथमिक शाला प्रधानपाठक- 

प्राप्त जानकारी अनुसार प्रदेश में कुल 22 हजार प्राथमिक  प्रधान पाठकों के पद रिक्त है जिसे पूरा पदोन्नति में ही भरा जायेगा।

बिलासपुर संभाग - 4690 

रायपुर संभाग - 5072 

बस्तर संभाग - 3648 

दुर्ग संभाग - 4267 

सरगुजा संभाग - 4032 

इसे भी पढ़ें - -केबिनेट बैठक में 100 प्रतिशत स्कूल खोलने में लगी मुहर 

पूर्व माध्यमिक एवं माध्यमिक शाला में रिक्त पदों की सूचि -

उच्च वर्ग शिक्षक - 08 हजार 

मिडिल स्कूल प्रधानपाठक - 06 हजार 

व्याख्याता -10000 हजार 

प्राचार्य - 2800

सभी शिक्षक संगठन ने फैसले का किया स्वागत पर सहायक शिक्षकों के मागो को भी उठाया - 
 सभी शिक्षक संगठन द्वार केबिनेट के फैसले का स्वागत किया एवं धन्यवाद ज्ञापित किया। साथ ही सहायक शिक्षकों के वेतन विसंगति के मांगो को प्रमुखता से उठाया। जिसमे एक ही पद में पिछले 20 वर्षों से कार्यरत सहायक शिक्षक  आज भी प्रति माह लगभग 10 हजार के आर्थिक नुक्सान हो रहा है।  इस लिए सभी संगठनो की प्रतिक्रिया लगभग मिली जुली  रही।  और सरकार से अपील किया की सहायक शिक्षकों के वेतन विसंगति जल्द दूर करें। 

महगाई भत्ता के लिए  कर्मचारी हुए निराश - 
कल हुए केबिनेट बैठक में कर्मचारियों को आशा थी की महगाई भत्ता पर सरकार जरूर कुछ करेगी परन्तु कर्मचारियों को निरशा होना पड़ा।  राज्य सरकार DA को लेकर कोई भी घोषणा नहीं किया। राज्य सरकार द्वारा महगाई भत्ता को लेकर कमिटी  कमिटी गठित कर दी है। और अब कमिटी की रिपोर्ट के आधार पर राज्य के कर्मचारियों को महगाई भत्ता दिया जायेगा।  

Join our whatsapp group

Post a Comment

Previous Post Next Post